JSW Cement IPO New IPO will come in the market soon!JSW Cement IPO New IPO will come in the market soon!

JSW Cement IPO: जेएसडब्ल्यू सीमेंट का आईपीओ मार्केट में जल्द आ सकता है. कंपनी फिलहाल इश्यू के जरिए 6000 करोड़ रुपये जुटाने की प्लानिंग कर रही है.

JSW Cement IPO: सज्जन जिंदल की जेएसडब्ल्यू समूह (JSW Group) की सीमेंट कंपनी जेएसडब्ल्यू सीमेंट ( JSW Cement) का जल्द ही आईपीओ आ सकता है. मनी कंट्रोल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक ग्रुप ने इसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी है. जेएसडब्ल्यू सीमेंट ने इसके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकर्स को नियुक्त कर दिया है. कंपनी फिलहाल कोटक महिंद्रा कैपिटल (Kotak Mahindra Capital), एसबीआई कैपिटल (SBI Capital), एक्सिस (Axis), सिटी (Citi), गोल्डमैन सैक्स (Goldman Sachs), Jefferies, DAM कैपिटल  आदि जैसे कई इन्वेस्टमेंट फर्म से आईपीओ के लिए कंपनी की वैल्यूएशन पर बातचीत कर रही है.

बिजनेस स्टैर्डड की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी फिलहाल 6000 करोड़ रुपये के इश्यू को लाने का प्रयास कर रही है, लेकिन आईपीओ का फाइनल साइज कितना होगा फिलहाल यह तय नहीं हो सका है.

2021 के बाद सीमेंट सेक्टर का होगा सबसे बड़ा आईपीओ

सीमेंट निर्माण से जुड़ी नुवोको विस्टास (Nuvoco Vistas) का आईपीओ साल 2021 के अगस्त में आया था. कंपनी ने इस इश्यू के जरिए 5,000 करोड़ रुपये इकट्ठा किए थे. इसके बाद जेएसडब्ल्यू सीमेंट का इश्यू इस सेक्टर का दो साल के भीतर का सबसे बड़ा आईपीओ हो सकता है. इससे पहले जेएसडब्ल्यू ग्रुप का सितंबर 2023 में एक और आईपीओ आया था. जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर का आईपीओ इस समूह का 13 सालों के भीतर का पहला आईपीओ था.

क्या है JSW Cement कंपनी का प्लान?

पार्थ जिंदल की अगुवाई वाली जेएसडब्ल्यू सीमेंट ने अगले 5 से 6 सालों के लिए प्लान तैयार किया है. इसके मुताबिक कंपनी ने लक्ष्य तय किया है कि वह 6 सालों के भीतर 19 करोड़ टन के सालाना उत्पादन क्षमता को हासिल कर लेगी. इसके साथ ही कंपनी इस आईपीओ के जरिए कंपनी के बड़े प्रमोटरों और निवेशकों जैसे अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट और सिनर्जी मैंटल को आंशिक रूप से एग्जिट दे देगी.

आदित्य बिड़ला ग्रुप के अल्ट्राटेक सीमेंट, अडानी ग्रुप के ACC सीमेंट से टक्कर लेने के लिए जेएसडब्ल्यू सीमेंट आईपीओ के जरिए जुटाई गई रकम को अपने बिजनेस को बढ़ाने, कर्ज को कम करने और वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल करेगी.

भारत में ग्रीन सीमेंट के सबसे बड़े निर्माता JSW सीमेंट लिमिटेड स्टील प्लांट्स से एक बाय-प्रोडक्ट के रूप में निकलने वाले ब्लास्ट फर्नेस स्लैग को सीमेंट उत्पादों में बदलता है। JSW पोर्टलैंड स्लैग सीमेंट (PSC) कंपनी का एक फ्लैगशिप प्रोडक्ट है।

यह एक मिश्रित सीमेंट है और बाज़ार में उपलब्ध पारंपरिक सीमेंट उत्पादों की तुलना में इसकी अन्तिम क्षमता सबसे ज्यादा है, साथ ही यह रासायनिक हमलों को भी बेअसर करता है। JSW के PSC में क्लिंकर अनुपात बहुत कम है, जो प्राकृतिक संसाधनों, अर्थात चूना पत्थर तथा कोयला एवं पेट-कोक जैसे ठोस ईंधन और पानी के संरक्षण में मददगार है। भारतीय बाज़ार में उपलब्ध अन्य सभी प्रकार के सीमेंट उत्पादों की तुलना में इसमें विद्युत ऊर्जा की बेहद कम खपत होती है।

JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 10 सीमेंट कंपनियों में से एक

वर्तमान में, JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 10 सीमेंट कंपनियों में से एक है, जिसके विनिर्माण संयंत्र भारत के पश्चिमी, दक्षिणी एवं पूर्वी क्षेत्रों में मौजूद हैं। यह कंपनी को इन क्षेत्रों में ग्राहकों की ग्रीन सीमेंट की मांग को पूरा करने में सक्षम बनाता है। इसलिए कंपनी ने वर्ष 2023 तक सीमेंट निर्माण क्षमता को 25 मीट्रिक टन प्रत वर्ष तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। इसका उद्देश्य देश में सीमेंट की बढ़ती मांग को पूंजी में परिणत करना है। उत्पादन क्षमता का लक्ष्य हासिल करने के बाद, JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 5 सीमेंट कंपनियों में शामिल हो जाएगा।

JSW सीमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर पार्थ जिंदल ने कहा कि EPD इंटरनेशनल से प्राप्त यह प्रमाण-पत्र, वास्तव में पर्यावरण की दृष्टि से संवहनीय कार्यप्रणाली के साथ-साथ विकास की हमारी रणनीति की पुष्टि करता है। ग्रीन मटेरियल को केंद्रीय स्थान प्राप्त हो रहा है, जो भारत में बुनियादी ढांचे के संवहनीय तरीके से विकास से प्रेरित है। अपनी रणनीति के हिस्से के रूप में, हमने सीमेंट की समग्र उत्पादन क्षमता के लक्ष्य को संशोधित किया है और इसे वर्ष 2023 तक 25 MTPA पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। उत्पादन क्षमता के विस्तार के पूरा होने पर, हम भारत की शीर्ष 5 सीमेंट कंपनियों में शामिल हो जाएंगे।

शिवा सीमेंट में JSW सीमेंट की हिस्सेदारी 54 प्रतिशत

JSW सीमेंट की मौजूदा उत्पादन क्षमता 14 MTPA है। ओडिशा में इसकी सहायक कंपनी, शिवा सीमेंट लिमिटेड ने कई परियोजनाओं की शुरुआत की है, जो कंपनी को अपनी उत्पादन क्षमता को 25 MTPA तक बढ़ाने के लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम बनाएगा। वर्तमान में शिवा सीमेंट में JSW सीमेंट की हिस्सेदारी 54 प्रतिशत है, जिसमें मार्च 2017 में पूर्व प्रमोटरों से इसके बड़े हिस्से की खरीद तथा ACC लिमिटेड से खुले बाजार की खरीद के माध्यम से अधिग्रहित शेष हिस्सा शामिल है। चूंकि शिवा सीमेंट चूना पत्थर के समृद्ध क्षेत्र में स्थित है, इसलिए इसके खनन संसाधन पूर्वी क्षेत्र में JSW सीमेंट के विकास में सहायक होंगे।

पिछले तीन वर्षों में, कंपनी ने भूमि अधिग्रहण करने (विनिर्माण एवं खनन कार्यों के लिए ली जाने वाली जमीन), सरकार से मंजूरी हासिल करने तथा अपने विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए स्थानीय लोगों का समर्थन पाने के मामले में पर्याप्त प्रगति की है। हाल ही में, शिवा सीमेंट ने अपने खदानों को 0.12 MTPA से 0.345 MTPA तक विस्तारित करने के लिए कन्सेन्ट टू इस्टैबलिश (CTE) प्राप्त किया। क्लिंकर और सीमेंट उत्पादन के विस्तार के लिए भी पर्यावरण मंजूरी (EC) प्राप्त हुई है। इसके अलावा, इस महीने की शुरुआत में ई-नीलामी प्रक्रिया के माध्यम से शिवा सीमेंट को खटकुरबहल (उत्तर) के लाइमस्टोन ब्लॉक के लिए पसंदीदा बिडर घोषित किया गया। यह ब्लॉक इसके मौजूदा खदान के बिल्कुल नजदीक है।

शेयर करने के लिए धन्यवाद