Ram TempleRam Temple

प्राण-प्रतिष्ठा ;अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले रामलला प्राण प्रतिष्ठा महा उत्सव के साक्षी गांव के लोग भी बनेंगे। जिले के दो हजार गांवों में प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाने के लिए एलईडी स्क्रीन लगाई जाएगी। इसके लिए मंदिरों का चयन किया जा रहा है।

प्राण-प्रतिष्ठा ;वर्षो की प्रतीक्षा के बाद अयोध्या की जन्मभूमि पर रामलला के नव विग्रह की प्राण-प्रतिष्ठा के उत्सव को देखने के लिए शहर और गांव के अधिक से अधिक लोगों को मौका दिया जाएगा। व्यापक तैयारियों के तहत गांव के मंदिरों पर एलईडी स्क्रीन लगाने की तैयारी है। जिन मंदिरों में स्क्रीन लगाई जाएगी, उन्हें चिह्नित किया जा रहा है।

मंदिरों में सुबह से ही गीत और भजन के साथ उत्सव मनाया जाएगा और शाम को घरों को रोशन करके दिवाली मनाई जाएगी। साथ ही भंडारे का भी आयोजन किया जाएगा। भाजपा कार्यकर्ताओं को इसकी जिम्मेदारी सौंपी जा रही है।

प्राण-प्रतिष्ठा पूजित अक्षत पहुंचाने में लगे हैं 18,000 कार्यकर्ता

जिले में पूजित अक्षत को घर-घर पहुंचाने के लिए 18,000 कार्यकर्ताओं को लगाया गया है, जो पूजित अक्षत को कलश में रखकर जन्मभूमि के पवित्र चित्र के साथ अयोध्या दर्शन के लिए आमंत्रण पत्र दे रहे हैं। प्रत्येक हिंदू परिवार तक यह अक्षत पहुंचाने की योजना है। गांव में कोई भी हिंदू परिवार अक्षत से अछूता न रहे, इसके लिए पर्यवेक्षकों से निगरानी करने को कहा गया है।

16 जनवरी से ढोल-ताशों के साथ निकलेगी प्रभात फेरी

शहर और गांव में 16 से 21 जनवरी तक ढोल-ताशा, मंजीरा के साथ प्रभात फेरी निकाली जाएगी। प्रतिदिन सुबह गांव में निकलने वाली प्रभातफेरी में महिलाएं, बच्चे और युवा शामिल होंगे।

00अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के सीधे प्रसारण के लिए लगभग दो हजार गांवों में एलईडी स्क्रीन लगाई जा रही है। ताकि गांव में मौजूद लोग रामलला के दर्शन कर सकें।

आशीष श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष, भाजपा

पुरानी पेंशन बहाली सहित तीन सूत्रीय मांगों को लेकर दूसरे दिन भी भूख हड़ताल जारी, कर्मियों ने भारत बंद की दी चेतावनी

UP Pension Scheme राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष राजेश मोहन मिश्र व नार्दन रेलवे मेंस यूनियन (एनआरएमयू) प्रतापगढ़ के अध्यक्ष मो. शफीक के नेतृत्व में दूसरे दिन मंगलवार को पदाधिकारियों ने कहा कि अगर केंद्र सरकार पुरानी पेंशन बहाल नहीं करती है तो हम सड़क पर संघर्ष एवं हड़ताल भारत बंद करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। संचालन शाखा मंत्री अनिल कुमार शुक्ल ने किया।

UP Pension Scheme: पुरानी पेंशन बहाली सहित तीन सूत्रीय मांगों को लेकर उत्तरी रेलवे मजदूर यूनियन एवं नार्दन रेलवे मेंस यूनियन के बैनर तले रेलकर्मियों की भूख हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रहा

मां बेल्हादेवी धाम प्रतापगढ़ जंक्शन के बाहर व पीडब्ल्यूआई स्टोर के बाहर एकजुट होकर रेलकर्मियाें ने मांगों को लेकर आवाज बुलंद की।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष राजेश मोहन मिश्र व नार्दन रेलवे मेंस यूनियन (एनआरएमयू) प्रतापगढ़ के अध्यक्ष मो. शफीक के नेतृत्व में दूसरे दिन मंगलवार को पदाधिकारियों ने कहा कि अगर केंद्र सरकार पुरानी पेंशन बहाल नहीं करती है, तो हम सड़क पर संघर्ष एवं हड़ताल, भारत बंद करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। संचालन शाखा मंत्री अनिल कुमार शुक्ल ने किया।

इस अवसर पर संयुक्त परिषद के रामशंकर तिवारी, जूनियर हाईस्कूल संघ के जिलाध्यक्ष आशुतोष मिश्र, महामंत्री राजेश सरोज, प्रवक्ता धर्मराज, सुशील शुक्ल, डॉ. हीरा लाल कैलाश चंद त्रिपाठी रहे।

ये लोग रहे मौजूद

उधर उत्तरीय रेलवे मजदूर यूनियन के बैनर तले शाखा अध्यक्ष अफजल खान की अगुवाई में रेलकर्मियों ने पुरानी पेंशन की बहाली सहित तीन सूत्रीय मांगों पर जोर दिया। सहायक मंडल मंत्री धर्मेंद्र कुमार दुबे, राजेश कुमार सिन्हा , प्रदीप कुमार शर्मा, रंजन कुमार, मो. सलीम, एमबी सिंह, मो. यासिर आदि मौजूद रहे।

राजेश मसाला ने राम मंदिर के लिए सात गाड़ियों में भेजा मसाला

शेयर करने के लिए धन्यवाद