mutual fundmutual fund

म्यूचुअल फंड ,एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड ने अपने निवेशकों को धमाकेदार रिटर्न दिया है। 29 साल में इस फंड ने 10,000 रुपये महीने की एसआईपी से 16.5 करोड़ रुपये का फंड तैयार कर दिया है। यह स्कीम 1 जनवरी, 1995 को लॉन्च हुई थी।

म्यूचुअल फंड , शेयर बाजार में सीधे निवेश की तुलना में म्यूचुअल फंड में जोखिम कम होता है। इसलिए ऐसा माना जाता है कि यहां रिटर्न भी शेयर बाजार की तुलना में कम होता है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों से म्यूचुअल फंड शानदार रिटर्न दे रहे हैं। 2023 में भी म्यूचुअल फंड्स ने बंपर रिटर्न दिया है।

आज हम आपको एक ऐसे फंड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने इन्वेस्टर्स की रकम को कई गुना बढ़ा दिया है। एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड (HDFC Flexi Cap Fund) एक ओपन एंडेड डायनामिक इक्विटी स्कीम है। यह लार्ज, मिड और स्मॉल कैप स्टॉक्स में इन्वेस्ट करती है। इस फंड ने 2024 में अपने 29 साल पूरे कर लिये हैं।

म्यूचुअल फंड 10 हजार के कर दिये 16.5 करोड़

पिछले 29 वर्षों में एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड ने 18.87% कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) से रिटर्न दिया है। अगर आप इस फंड की शुरुआत से इसमें 10,000 रुपये महीने की SIP करते, तो अब तक आपका कुल निवेश 34.8 लाख रुपये का होता। यानी आपके द्वारा एसआईपी में डाली गई कुल रकम 34.8 लाख रुपये हो जाती। इस निवेश से आपका कॉर्पस 31 दिसंबर, 2023 तक 16.5 करोड़ रुपये हो चुका होता।

म्यूचुअल फंड ,एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड ने अपने निवेशकों को धमाकेदार रिटर्न दिया है। 29 साल में इस फंड ने 10,000 रुपये महीने की एसआईपी से 16.5 करोड़ रुपये का फंड तैयार कर दिया .

यह निवेश रणनीति करता है फॉलो

इस फंड की निवेश रणनीति बॉटम-अप एप्रोच पर आधारित है। जिसमें वाजिब दाम वाले क्वालिटी कंपनीज के शेयरों पर फोकस किया जाता है। इस रणनीति का उद्देश्य मीडियम से लॉन्ग टर्म में अच्छी ग्रोथ करने वाली मजबूत कंपनियों को चुनना है। एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के अनुसार, एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड एक रिसर्च बेस्ड इन्वेस्टमेंट प्रोसेस को फॉलो करता है। म्यूचुअल फंड में पोर्टफोलियो की देखरेख फंड मैनेजर्स द्वारा की जाती है।

म्यूचुअल फंड

2024 में Mutual Fund इंडस्ट्री 50 लाख करोड़ रुपये के पार, SIP ने किया शानदार प्रदर्शन

Mutual Fund Investment in 2024: एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) की तरफ से सोमवार को जारी आंकड़ों से पता चला है कि म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री की एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 2023 में 10.9 लाख करोड़ रुपये यानी 27 प्रतिशत बढ़ गई.

नई दिल्ली: Mutual Fund Investment: बीते साल 2023 में औसत प्रदर्शन से उबरते हुए म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री  (Mutual Funds Industry) ने पर्याप्त तेजी देखी और इसका एसेट्स बेस लगभग 11 लाख करोड़ रुपये बढ़कर 50 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया. इस शानदार प्रदर्शन के पीछे शेयर बाजार में तेजी के दौर, स्थिर ब्याज दरों और एक मजबूत आर्थिक वृद्धि की अहम भूमिका रही है.

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) की तरफ से सोमवार को जारी आंकड़ों से पता चलता है कि वर्ष 2023 में फंड योजनाओं में कुल निवेश (Mutual Fund Investment) में खासी तेजी दर्ज की गई है. इस दौरान म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री की एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 2023 में 10.9 लाख करोड़ रुपये यानी 27 प्रतिशत बढ़ गई.

5.7 प्रतिशत की वृद्धि से काफी अधिक

यह एक साल पहले 2022 में म्यूचुअल फंड के एयूएम में (MF Industry’s AUM) 2.65 लाख करोड़ रुपये यानी 5.7 प्रतिशत की वृद्धि से काफी अधिक है. इसके पहले वर्ष 2021 में एसेट्स बेस सात लाख करोड़ रुपये के साथ लगभग 22 प्रतिशत बढ़ा था.

एम्फी के आंकड़ों से पता चलता है कि एसेट्स बेस 2022 में 39.88 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 2023 में 50.78 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया. दिसंबर, 2021 के अंत में एसेट्स बेस 37.72 लाख करोड़ रुपये और दिसंबर, 2020 में 31 लाख करोड़ रुपये था. इस तरह 2023 में इंडस्ट्री के एसेट्स बेस में लगातार 11वें साल बढ़ोतरी हुई.

इस वर्ष उद्योग में वृद्धि को इक्विटी योजनाओं, खासकर सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Systematic Investment Plan) या  एसआईपी (SIP) के जरिये निवेश से समर्थन मिला. इंडस्ट्री एक्सपर्ट ने एसेट बेस में भारी वृद्धि का श्रेय बढ़ते हुए इक्विटी बाजार, स्थिर ब्याज दरों और बढ़ती आर्थिक वृद्धि को दिया है.

बीते साल 2.7 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश

म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री में बीते साल 2.7 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश (MF Investment) हुआ जबकि एक साल पहले 71,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हासिल हुआ था. 

म्यूचुअल फंड ,एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड

Ram Mandir: रावण के मंदिर में अब राम की भी पूजा ;Now Ram is also worshiped in Ravana’s temple

Video News Bihar मुकेश बीपीएससी शिक्षक के पद चयनित हुआ तब से इसका रवैया पूर्णिमा प्रति बदल गया

शेयर करने के लिए धन्यवाद