Pratapgarh Teacher who raped student gets 25 years imprisonmentPratapgarh Teacher who raped student gets 25 years imprisonment

प्रतापगढ़ : नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म करने वाले शिक्षक को 25 साल की कैद, अधिक नंबर दिलाने का देता था झांसा

पीड़िता को अधिक अंक दिलाने का झांसा देकर अनिल चौरसिया उसका शारीरिक शोषण करता था। इस दौरान अनिल ने उसकी आपत्तिजनक फोटो खींच ली। छात्रा बाद में जब विरोध करने लगी तो फोटो दिखाकर उसे ब्लैकमेल करता था।

अपर जिला जज और विशेष न्यायाधीश पॉक्सो आलोक द्विवेदी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने का दोषी पाए जाने पर अनिल चौरसिया निवासी थाना फतनपुर को 25 वर्ष कारावास की सजा सुनाई है। तीस हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। अनिल चौरसिया एक निजी विद्यालय में शिक्षक था, जहां पीड़िता कक्ष दस की छात्रा थी।

पीड़िता को अधिक अंक दिलाने का झांसा देकर अनिल चौरसिया उसका शारीरिक शोषण करता था। इस दौरान अनिल ने उसकी आपत्तिजनक फोटो खींच ली। छात्रा बाद में जब विरोध करने लगी तो फोटो दिखाकर उसे ब्लैकमेल करता था ।

शिक्षक को 25 साल की कैद

पीड़िता ने न्यायालय में उपस्थित होकर बताया कि उसके विद्यालय के शिक्षक अनिल चौरसिया ने उसकी मैथ की बुक ले ली। फिर बुक लेने के लिए उसे अपने घर बुलाया। वह नौ फरवरी 2020 को दिन में एक बजे उसके घर गई तो अनिल ने उसे घर के अंदर जबरदस्ती खींच लिया और कमरे का दरवाजा बंद करके उसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया।

इसी मुकदमे में सह आरोपी अमित चौरसिया, पवन चौरसिया, राजू उर्फ रोहित चौरसिया को साक्ष्य के अभाव में दोष मुक्त कर दिया गया। पीड़िता की ओर से लोक अभियोजक प्रदीप कुमार पांडेय ने पैरवी की थी।

शिक्षक को 25 साल की कैद

Pratapgarh: शहर में अवैध प्लाटिंग का मकड़ जाल, किसानों की जमीन पर भू-माफियाओं का कब्जा; कार्रवाई से खलबली

Pratapgarh प्रतापगढ़ में अवैध प्लाटिंग को लेकर नियमित कार्रवाई होने पर खलबली मच गई है। नगर पालिका की सीमा का विस्तार होने पर कई गांव अब शहरी क्षेत्र में शामिल हो गए हैं। इससे भू-माफिया की चांदी हो गई है। अब इस अवैध कब्जे पर बुलडोजर वाली कार्रवाई हो रही है। प्रशासन की कार्रवाई से भू-माफियाओं में खलबली मच गई है।

प्रतापगढ़। नगर पालिका परिषद बेल्हा का सीमा विस्तार होने के बाद भू-माफिया की नजर विनियमित क्षेत्र की करोड़ों की जमीन पर है। यहां पर भू-माफिया ने अवैध प्लाटिंग कर ली है। इसको लेकर जिला प्रशासन का रुख कड़ा है। शुक्रवार को चिलबिला कोट के पास दो बीघे की अवैध प्लाटिंग को ध्वस्त कराया गया।अवैध प्लाटिंग को लेकर नियमित कार्रवाई होने पर खलबली मच गई है। नगर पालिका की सीमा का विस्तार होने पर कई गांव अब शहरी क्षेत्र में शामिल हो गए हैं। इससे भू-माफिया की चांदी हो गई है।

भू-माफिया ने किसानों से उनकी जमीन ओने-पौने दामों पर ले ली है। चिलबिला में यह कारोबार बड़े पैमाने पर फैल गया है। यहां पर कई बीघे जमीन पर अवैध प्लाटिंग हो चुकी है। इसकी लगातार शिकायतें आने के बाद जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई कराई जा रही है। चिलबिला क्षेत्र में लगभग डेढ़ दर्जन लोग अवैध प्लाटिंग के कारोबार में लगे हुए हैं। वह करोड़ों रुपये के वारे-न्यारे भी कर चुके हैं।

अवैध प्लाटिंग को ध्वस्त करता बुलडोजर

अब तक बुद्ध बिहार के आसपास चार बीघे, पालीटेक्निक के सामने दो बीघे, उमर वैश्य धर्मशाला के सामने पांच बीघे, चिलबिला ओवर ब्रिज के बगल छह बीघे, चिलबिला कोट के पास दो बीघे समेत लगभग 30 बीघे अवैध प्लाटिंग को ध्वस्त किया जा चुका है। शुक्रवार को जब चिलबिला कोट के पास कार्रवाई की गई तो एसडीएम सदर उदयभान सिंह समेत अन्य अधिकारी मौके पर मौजूद रहे।

फैल चुका है अवैध प्लाटिंग का कारोबार

दूसरे मार्गों पर भी प्लाटिंग अवैध प्लाटिंग का कारोबार नगर पालिका परिषद बेल्हा की सीमा के चारों तरफ फैला हुआ है। चिलबिला, अचलपुर, गायघाट, कटरा रोड, सिटी रोड, जोगापुर में यह काम धड़ल्ले से चल रहा है। इससे सरकार को करोड़ों रुपये का राजस्व नुकसान भी हो रहा है। जिला प्रशासन की सख्ती से फिलहाल अवैध प्लाटिंग पर थोड़ा रोक लगेगी।

कहीं पर कोई विरोध नहीं

पिछले दो सालों से चिलबिला क्षेत्र में तेजी से अवैध प्लाटिंग का कारोबार हो रहा है। प्लाट काटकर वहां पर दीवार भी बना दी गई है। खास बात यह है कि अब तक की कार्रवाई में कहीं पर कोई विरोध नहीं हुआ है, जिन्होंने जमीन पर हजारों रुपये खर्च करके दीवार बनाई है, वह कार्रवाई के बाद भी सामने नहीं आ रहे हैं। भू-माफिया भी चुप्पी साधकर बैठे हुए हैं, क्योंकि उन्हें भी यह मालूम है कि कार्रवाई से पहले उनकी भी सूची तैयार हो चुकी है। अवैध प्लाटिंग ध्वस्त होने के बाद उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

:प्रोस्टेट कैंसर में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं ?

Video News पवन सिंह ने विरोधियों को दिया करारा जवाब

शेयर करने के लिए धन्यवाद